निखत जरीन: एक सफल प्रयास और नई आशाएं

निखत जरीन ने ऐसे किया भारत का नाम रौशन

निखत जरीन, जिन्हें दो बार विश्व चैम्पियन घोषित किया गया है, ने हाल ही में अपने खुद के प्रयासों और मेहनत के साथ एक नई उपलब्धि प्राप्त की है। वे वींमें 50किग्राम वर्ग में प्रतिस्पर्धा कर रही थीं और अपने सख्त सेमीफाइनल मुकाबले में हारकर ब्रॉन्ज मेडल जीतने के लिए आगे बढ़ी।

 

महिला प्रॉफेशनल बॉक्सिंग में अपने आप को साबित करना कठिन हो सकता है, लेकिन निखत जरीन ने यह बिना किसी शक के किया है। उन्होंने अपनी जीती हुई सफलताओं के बावजूद हार को अपने आगे की बड़ी चुनौती बनाया और एक नई उपलब्धि प्राप्त की।

निखत जरीन

 

निखत जरीन की आखिर तक जारी रही कोशिश

निखत जरीन की इस कहानी की शुरुआत इस खबर से हुई थी, जिसमें बताया गया कि वे वींमें 50किग्राम वर्ग की महिलाओं की प्रतिस्पर्धा में शानदार प्रदर्शन कर रही थीं। इस मुकाबले में, वे एक भारी मुकाबले में थीं और अपनी नई जीत की तरफ बढ़ रही थीं। लेकिन यह मुकाबला उनके लिए आसान नहीं था, क्योंकि उन्होंने एक बहुत ही मजबूत और अनुभवी खिलाड़ी के खिलाफ प्रतिस्पर्धा की थी।

 

मैच का पहला राउंड खत्म होने के बाद, निखत जरीन थोड़ी सी पीछे चल गई थी, लेकिन वे अपनी निरंतर मेहनत और संघर्ष जारी रखीं। उन्होंने अपने प्रतिस्पर्धी के खिलाफ कठिनाई का सामना किया और मैच के आखिरी चरण में बची हुई उम्मीद को भी खो दिया।

कांस्य पदक के साथ संतोष करना पड़ेगा

लेकिन फिर भी, उन्होंने अपने प्रयासों से ब्रॉन्ज मेडल जीतने का इरादा नहीं छोड़ा। यहां तक कि वे मैच के बाद भी खुद को और भी मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित कर रही थीं।

 

इसके परिणामस्वरूप, निखत जरीन ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर अपने देश का गर्व बढ़ाया। इस उपलब्धि के साथ ही, वे अपने देश के लिए एक और ओलंपिक कोटा भी हासिल कर लीं, जो एक बड़ी प्राधिकृत और गर्व की बात है।

Also read:टॉप 10 बॉलीवुड की फिल्मे

Follow: https://twitter.com/MdMahboobAnsari